EFPO: रिटायरमेंट के बाद मिलेगी 7200 पेंशन, कैसे होगी गणना – यहाँ देखिये

Written by Chirag Yadav

Published on:

EPFO Pention Calculation – प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है। अब उनको हर महीने 7200 रूपए पेंशन पाने का मौक़ा आ गया है। आपको बता दें की कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) का गठन संसद में प्रस्ताव पारित होने के बाद किया गया था। EPFO ही प्राइवेट सेक्टर में काम कर rhe लाखों करोड़ों लोगों को हर महीनेपेन्शन की सुविधा भी प्रदान करता है।

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) ने कानून के हिसाब से कर्मचारी हर महीने अपने वेतन का कुछ हिस्सा पेंशन फण्ड में जमा करता है और उसी के आधार पर हर महीने आगे चलकर कर्मचारी को पेंशन प्रदान की जाती है। कर्मचारी के इस भुगतान को एक यूनिवर्सल खाते के तहत एकत्रित किया जाता है जिसको विशिष्ट खाता संख्या (UAN) कहा जाता है।

कर्मचारी ईपीएफ कैलकुलेटर का उपयोग करके अपनी बचत की सही गणना कर सकते हैं। कर्मचारियों को अपनी मूल मासिक कमाई का 12% योगदान देना चाहिए और कानून द्वारा ईपीएफ को मुआवजा देना चाहिए। नियोक्ता तब समान योगदान देने के लिए बाध्य होता है।

यूएएन या यूनिक अकाउंट नंबर द्वारा चुने गए कर्मचारी और नियोक्ता दोनों द्वारा स्थायी खाते में जमा किए गए पैसे की निगरानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (या ईएफपीओ) द्वारा की जाती है। ईपीएफ कैलकुलेटर की मदद से आप अपने फंड का सटीक विश्लेषण कर सकते हैं।

ईपीएफ कैलकुलेटर का उपयोग कैसे करें?
अपना मूल वेतन और आयु दर्ज करें।

नियोक्ता का अंशदान (ईपीएस+ईपीएफ), अर्जित कुल ब्याज, और कुल परिपक्वता राशि सभी परिणामों में दिखाई जाएगी

ईपीएफ कैलकुलेटर कैसे काम करता है?

हर महीने, कर्मचारी अपने ईपीएफ खाते में अपनी आधार आय और महंगाई भत्ते का 12% योगदान देता है। उदाहरण के लिए, यदि कर्मचारी का योगदान 60,000 रुपये का 12% है (कोई डीए नहीं मानते हुए), तो कर्मचारी का योगदान 7,200 रुपये होगा।

ईपीएफओ भारत के संगठित क्षेत्र में अंशदायी भविष्य निधि, एक पेंशन प्रणाली और श्रमिकों के लिए एक बीमा योजना का प्रबंधन करता है। ग्राहकों और संचालित वित्तीय लेनदेन की मात्रा के संदर्भ में, यह दुनिया के सबसे बड़े संगठनों में से एक है।

Leave a Comment