बरसेगा धन – हो जाओगे मालामाल, एक बार लगाओ और 10 साल कमाई, कीजिये ये खेती

Written by Chirag Yadav

Published on:

Sahjan Ki Kheti – देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में इस समय आर्गेनिक खेती पर पूरा जोर दिया जा रहा है। हर इन्शान अपनी सेहत को लेकर फिक्रमंद है इसलिए हमेशा से कुछ ऐसा बिज़नेस करने पर विचार करता है जो सेहत और प्राकृतिक रूप से सही हो। अगर आपको भी ऐसी कोई खेती करना चाहते है जो आर्गेनिक भी हो और साथ में मोटी कमाई भी हो सके तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पर आएं हैं। इस आर्टिकल में हम आपकोबतायेंगे की आपको कौन सी खेती करनी है जो आपको बम्पर कमाई देगी।

कौन सी खेती करें?

आर्गेनिक तरीके से आप अगर फार्मिंग करना चाहते हैं तो आप सहजन की खेती की तरफ जरूर जायें क्योंकि ये एक बेहतरीन ऑप्शन है। इसके साथ ही आपको बता दें की सहजन में बहुत सारे लाभकारी गुण भी मौजूद होते हैं। इसके अलावा इसकी खेती करना भी बहुत आसान होता है। इस खेती से आप आसानी से हर साल 6 से 7 लाख कमाई कर सकते है।

आपको बता दें की सहजन की खेती करने के लिए आपको लम्बे चौड़े खेत की जरुरत नहीं होती है। ऐसे आप आसानी से छोटे स्तर से शुरू करके लाखों रूपए कमाई कर सकते हो। सहजन की खेती और सहजन का पौधा एक तरफ से मेडिसिनल प्लांट होता है। एक बार अगर आपने एक फसल की बुवाई करदी तो फिर आपको अगले कई सालों तक सिर्फ कमाई हो होती रहेगी।

जमीन कैसी होनी चाहिए?

सहजन की खेती गर्म इलाके जैसे राजस्थान, हरियाणा, यूपी, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में आसानी से हो सकती है। जबकि सर्दी वाले इलाके में खेती हो तो जाएगी लेकिन पैदावार ज्यादा अच्छी नहीं रहती। सहजन की खेती के लिए 25 से 30 डिग्री तापमान बिलकुल सही रहता है। सहजन के पेड़ से आप साल में दो बार पैदावार ले पाएंगे।

सहजन का एक पेड़ आपको आसानी से करीब 10 साल तक फसल की पैदावार देता रहेगा। इससे इस फसल से लगत बिलकुल काम हो जाती है और कमाई अधिक होती है। इस सहजन की खेती करने के लिए जो उन्नत किश्मे है वो इस प्रकार से हैं।

  • कोयम्बटूर २
  • रोहित १
  • पी.के.एम १
  • पी.के.एम 2

कितनी कमाई हो सकती ह।

मान लीजिये आपने सहजन की खेती एक एकड़ में शुरू की है तो आपके इस एक एकड़ में करीब 1200 पौधे लग जायेंगे। आपके इस एक अकड़ में फसल लगाने का खर्चा लगभग 60 से 70 हजार का होता है। सहजन के पौधे की फलियां बेचकर आपको सालाना लाखोंकी कमी होगी। इसका सबसे बड़ा फायदा ये है की इसमें देखरेख की भी ज्यादा जरुरत नहीं होती।

Leave a Comment