साइक्लोन मोचा के एक्टिव होने की संभावना,, जाने IMD का क्या अपडेट है

Written by Chirag Yadav

Published on:

मौसम विभाग की तरफ से बंगाल की खाड़ी में साल के पहले चक्रवाती तूफान की सम्भावना जारी की गई है और बंगाल की खाड़ी में 9 मई के आसपास इसके बनने की संभावना है हालाँकि मौसम विभाग की तरफ से इसके बारे में सिर्फ संभावना जारी की गई है पूर्ण आंकलन की जानकारी नहीं जारी की गई है। इस साल के इस चक्रवाती तूफान को मोचा नाम दिया गया है IMD के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र के मुताबिक विभाग की तरफ से की जा रही जाँच के हिसाब से 9 मई के लगभग ये चक्रवात बन सकता है और और इसके लिए गति और तीव्रता की जानकारी सात मई तक ही ली जा सकती है

मौसम विभाग ने तटों से दूर रहने की सलाह जारी की

मौसम विभाग ने किसी भी प्रकार से इस चक्रवात के कारण लैंडफॉल की जानकाyरी जारी नहीं की है लेकिन मछुआरों को समुन्द्र में न जाने की सलाह जारी की गई है लेकिन ओडिसा सरकार की तरफ से इससे निपटने के लिए सभी तैयारी पूर्ण कर ली गई है NDRF की टीम को तैयार रखा गया है। वही पर राहत सेलटर भी तैयार है। ओडिसा सरकार के विशेष राहत आयुक्त सत्यव्रत शाहू ने बुधवार को कहा था की मौसम में बदलाव को देखते हुए सरकार की तरफ से पहले ही 11 विभाग के अधिकारियो को अलर्ट मोड़ पर रखा है

इसमें 18 तटीय और आसपास के जिला कलेक्टर शामिल है हालाँकि मौसम विभाग की तरफ से ओडिसा के तटों पर किसी प्रकार का अलर्ट जारी नहीं किया गया है फिर भी राज्य सरकार की तरफ से चक्रवात से निपटने के लिए पूर्ण प्रबंध कर लिए गए है NDRF और ODRAF की टीम किसी भी तरफ की प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए तैयार है इससे पहले भी राज्य में 2019 में फानी, 2020 में अम्फान और 2021 यास चक्रवात आये थे

मुख्यमंत्री ने जारी किये निर्देश

ओडिसा के मुख्यमंत्री नविन पटनायक ने चक्रवात और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से निपटने की तैयारी की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता के दौरान अधिकारियो को किसी भी तरह की आपदा से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा है पटनायक ने 2 मई, 2019 को ओडिशा तट से टकराने वाले फानी चक्रवात को याद करते हुए कहा कि गर्मियों के दौरान चक्रवात के रास्तों को पहचानना मुश्किल होता है