तूफान का अलर्ट जारी, इस राज्य में मंडराया तूफान का खतरा, जानिए मौसम विभाग ने क्या कहा है

Written by Chirag Yadav

Updated on:

पश्चिमी विक्षोभ की वजह से देश में काफी दिनों तक बारिश का दौर चल रहा था लेकिन अब मौसम विभाग की तरफ से पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में एक साइक्लोन की चेतावनी जारी की गई है। छह मई के आस पास ये बंगाल की खाड़ी में एक्टिव हो सकता है और इसके प्रभाव से चक्रवाती तूफान के आने की संभावना है चक्रवात के एक्टिव होने के बाद आगामी 48 घंटो तक इसका असर रहेगा साइक्लोन के असर से एक कम दबाव का क्षेत्र बनता है जिससे तूफान आने के आसार होते है इसके लिए ओडिसा राज्य में सरकार ने अलर्ट जारी किया है

इसे भी पढ़ें: आम जनता को मिली राहत, सस्ता हुए पेट्रोल डीज़ल के दाम

हालाँकि भुवनेश्वर मौसम विभाग में एक अधिकारी का कहना है की IMD की तरफ से इसकी कोई सुचना जारी नहीं की गई है लेकिन ओडिसा सरकार इसको लेकर गंभीर हो चुकी है और अपने अधिकारियो को आदेश जारी कर दिया गया ताकि तूफान से पहले सभी प्रकार की तैयारी अच्छे से हो आपकी जानकारी के लिए बता दे की बंगाल की खाड़ी में छह मई के लगभग एक साइकलोनिक सर्कुलेशन बनने के आसार है जिसकी वजह से कम दबाव का क्षेत्र बनेगा और इसके प्रभाव से प्रदेश में अगले 48 घंटो तक तूफान का असर रह सकता है

इसे भी पढ़ें: UP Farmer Karj Mafi New List : यूपी किसान क़र्ज़ माफ़ी की सूची, अभी ऑनलाइन करें चेक

ओडिसा राज्य में NDRF की टीम तैयार

राज्य में सभी आपदा राहत टीम को तैयार कर दिया गया है इसके साथ ही सरकार की तरफ से जारी आदेश में 18 तटीय और आसपास के जिला कलेक्टर को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए है NDRF की 17 टीम और ODRAF की 20 टीम इस मुशीबत से निपटने के लिए तैयार है मुख्य सचिव PK जेना ने कहा है की अगर राज्य में चक्रवाती तूफान बनता है तो इसके लिए जीरो केजुअल्टी सुनिश्चित करने के लिए काम किया जायेगा इसे लिए सुरक्षित स्थानों और साइक्लोन सेलटर तैयार है

इसे भी पढ़ें: EPFO update : अधिक पेंशन विकल्प का चुनाव करने पर घटेगा पीएफ का पैसा, जानिए क्या है नई अपडेट

तटीय इलाको में अधिक प्रभावी हो सकता है चक्रवात

अगर मौसम विभाग के जानकारों की माने तो पश्चिमी बंगाल राज्य के तटीय इलाको में चक्रवातीय तूफान अधिक प्रभावी हो सकता है इससे पहले भी साल 2020 और 2021 में आये चक्रवाती तूफान भी मई में ही तटों से टकराया था लेकिन अभी मौसम विभाग की तरफ से चक्रवात से जुडी पूर्ण जानकारी नहीं मिली है चक्रवात किस दिशा में जायेगा इसके बारे में अभी पूर्ण जानकारी नहीं मिल पाई है। अभी चक्रवात बनने की संभावना है जब चक्रवात बनेगा तब इसके बारे में सही से जानकारी हासिल हो पायेगी

इसे भी पढ़ें: Unemployment Allowance: बेरोजगार युवाओं की हो गई मौज, हर महीने मिलेंगे 2500 रूपए, फटाफट ऐसे करें आवेदन

9 मई के लगभग चक्रवात के तेज होने की संभावना

आईएमडी निदेशक महापात्रा के अनुसार पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में चक्रवात के एक्टिव होने की संभावना है लेकिन अभी पूर्ण रूप से कहा नहीं जा सकता है की इसकी दिशा किस तरफ होगी , यदि चक्रवात एक्टिव होता है तो इसके प्रभाव से सात मई के लगभग एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है और आठ मई के दौरान पूर्व और दक्षिण बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव का क्षेत्र बनने के आसार हो सकते है इससे 9 मई के दौरान चक्रवात के तेज होने की संभावना हो सकती है हालाँकि अभी तक चक्रवात एक्टिव होने की सम्भावना है सही जानकारी चक्रवात के एक्टिव होने के बाद ही मिल सकती है मौसम विभाग की तरफ से इस पर लगातार नजर राखी जा रही है

इसे भी पढ़ें: Mahila Samman Bachat Patra – आज से महिलाओं के लिये सरकार ने खोला पिटारा, अब इसमें करेंगी निवेश तो मिलेगा लाखों का रिटर्न

मछुआरों के लिए मौसम विभाग की सलाह

वही पर मौसम विभाग की तरफ से छोटे जहाजों और नावों, मछुआरों को सात मई को बंगाल की खाड़ी के क्षेत्रों में न जाने की सलाह दी है IMD के निदेशक ने लोगो को कहा है की लोगो को घबराने की जरुरत नहीं है हम हर तरह की चुनौती के लिए तैयार है और मौसम विभाग की तरफ से इसके बारे में पूर्ण जानकारी रोजाना दी जाती रहेगी

 

 

Related News