KCC किन परिस्थितियों में हो सकता है माफ़ , जानिए किसान क्रेडिट कार्ड के नियम

Written by Chirag Yadav

Published on:

किसान के लिए सरकार की तरफ से बहुत से ऐसी योजनाओं का सञ्चालन किया जा रहा है जिससे किसानो को आर्थिक मदद मिलती है। किसी योजना में सब्सिडी दी जा रही है तो किसी योजना में लोन की सुविधा प्रदान की जाती है। इसके साथ ही किसानो को पैसे की तंगी से निजात दिलवाने के लिए बैंक की तरफ से KCC के तहत लोन भी दिया जाता है जिसमे ब्याज दर बहुत कम होती है और KCC के तहत किसान को तीन लाख रूपये तक का लोन मिल जाता है। और इसके लिए किसानो को किसी गारंटर की जरूरत भी नहीं होती है । किसान इस लोन का उपयोग कृषि के साथ पशुपालन के लिए भी कर सकते है।

किसान की मौत के बाद KCC Loan कैसे चुकता होता है

किसी भी बैंक की तरफ से जब किसान को KCC के तहत Loan दिया जाता है तो उसके साथ दुर्घटना की प्रीमियम बीमा पालिसी भी जारी की जाती है और इस दुर्घटना बीमा पालिसी में किसान की पूर्ण सुरक्षा होती है। किसान की किसी दुर्घटना में होने वाले नुकसान या मौत के बाद बीमा क्लेम जारी किया जाता है और इसी बीमा राशि से किसान के KCC लोन की अदायगी होती है। बीमा क्लेम राशि के जरिये किसानो को जितना भी KCC मिला है उसकी पूर्ण अदायगी हो जाती है। किसान के परिवार से किसी भी प्रकार की राशि नहीं ली जाती है।

KCC Loan चुकाने के नियम

जिन किसानो ने KCC के तहत लोन लिया है उसके लिए सरकार की तरफ से कुछ नियम निर्धारित किये गए है और इसके लिए बैंक की तरफ से किसान को KCC लोन चुकाने के लिए नोटिस भेजा जाता है। और इसमें एक फायदा और मिलता है किसान अपनी सहूलियत के हिसाब से लोन की राशि को चूका सकते है। इसके साथ ही नियम ये भी है की यदि कोई किसान KCC लोन को चुकता नहीं करता है तो उसकी जमीन को नीलम किया जा सकता है। और इसके माध्यम से KCC लोन की रिकवरी की जा सकती है। यदि किसी किसान की दुर्घटना में मौत हो जाती है तो ऐसी पारिसिथति में किसान की दुर्घटना बीमा राशि के जरिये इस लोन की राशि को वसूला जाता है

लोन किस तरह से माफ़ हो सकता है

KCC लोन माफ़ करना या नहीं करना ये सरकार के हाथ में होता है। सरकार की तरफ से देश के हर राज्य में लोन माफ़ करने के लिए स्कीम चलाई जाती है जिसके माध्यम से किसानो का KCC माफ़ किया जाता है इसमें वो किसान शामिल है जिन्होंने दो लाख रूपये तक का लोन लिया है और उसको चुकाने में असमर्थ है और उनकी फसले मौसम में खराब हुई है तो ऐसी कंडीशन में सरकार की तरफ से स्कीम के तहत लोन माफ़ी दी जा सकती है।

KCC के साथ बीमा राशि क्लेम कैसे जारी होता है

किसान जब KCC लेता है तो दुर्घटना बीमा पालिसी की जाती है। और इस पालिसी के अनुसार किसान की मौत होने पर पचास हजार रूपये तक की क्लेम राशि जारी की जाती है और अपंगता होने पर किसान को 25 हजार से लेकर 50 हजार रूपये के बीच क्लेम राशि जारी की जाती है।

Related News

Leave a Comment