LPG Gas Cylinder होने वाला है बंद, जल्द फैसला, वजह जानकर उड़ जाएंगे होश

Written by Chirag Yadav

Published on:

LPG Gas Cylinder – देश में बढ़ती महंगाई को देखते हुए पेट्रोल, डीजल और पेट्रोल की कीमतों में काफी इजाफा हुआ है। आम आदमी तब मदद की गुहार लगाता नजर आता है। हालांकि महंगाई से राहत देने के बीच सरकार ने लोगों को तगड़ा झटका दिया है. दरअसल, सरकार का इरादा एलपीजी गैस (LPG Gas Cylinder) को पूरी तरह से चरणबद्ध तरीके से खत्म करने का है। उन्हें बता दें कि सरकार की योजना के मुताबिक निकट भविष्य में एलपीजी गैस (LPG Gas Cylinder) को बदलकर पीएनजी (PNG Gas) में तब्दील कर दिया जाएगा। सरकार की यह कार्रवाई कई तरह से फायदेमंद होगी।

[button color=”red” size=”big” link=”https://jobs.kisanyojana.org/aadhar-update/” icon=”” target=”false” nofollow=”false”]14 जून तक आधार अपडेट हुआ फ्री, सरकार ने दी जनता को राहत[/button]

जानिए सरकार की रणनीति के बारे में।

केंद्र सरकार की योजना के मुताबिक, निकट भविष्य में एलपीजी गैस सिलेंडर (LPG Gas Cylinder) पूरी तरह से बंद हो जाएंगे और पाइप वाली प्राकृतिक गैस को क्षेत्र दर क्षेत्र पीएजी में तब्दील कर दिया जाएगा. इससे सरकार को कई तरह से फायदा होगा।

दूसरी ओर, पीएनजी उद्योग (PNG Industries) के दिग्गजों का मानना है कि ऐसे स्थानों की पहचान की जानी चाहिए जहां से एलपीजी (liquefied petroleum gas) के अंतिम उपयोग की तारीख निर्धारित की जा सके। नतीजतन, पीएनजी कई क्षेत्रों में गैस की आपूर्ति कर सकता है। इसके लिए रूपरेखा तैयार करना जरूरी है। इसकी जानकारी रखने वाले ने मुझे इसकी जानकारी दी है।

[button color=”red” size=”big” link=”https://jobs.kisanyojana.org/stand-up-india-loan-scheme/” icon=”” target=”false” nofollow=”false”]स्टैंड अप इंडिया के तहत 41,000 करोड़ रुपये का लोन मंजूर, जानिए कैसे ले सकते है आप भी लोन[/button]

वहीं, हाल के वर्षों में पीएनजी (PNG) की मांग में उल्लेखनीय कमी के कारण सरकार पीएनजी (PNG) के प्रसार को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठा रही है। गौरतलब है कि पीएनजी की कीमतें बाजार की स्थितियों से तय होती हैं।

पीएनजी से सरकार को होगा फायदा

आपको बता दें कि केंद्र सरकार प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के जरिए सब्सिडी के तौर पर एलपीजी गैस (LPG Gas) ग्राहकों पर करीब 6100 करोड़ रुपए खर्च कर रही है। इसके अलावा तीन सरकारी तेल कंपनियों को घाटे से बचाने के लिए वह करीब 22000 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है। क्योंकि ये कंपनियां पिछले वित्त वर्ष में अंतरराष्ट्रीय कीमतों के आधार पर घरेलू पेट्रोल के दाम (Petrol Price) नहीं बढ़ा पाई थीं। सरकार का इरादा इस तरह से पीएनजी से हुए नुकसान की भरपाई करने का है।

Leave a Comment