बड़ा धमाका, खेती की मशीन पर 50% सब्सिडी, ऐसे करना होगा आवेदन

Written by Chirag Yadav

Published on:

Subsidy on Farming Machine – आज आधुनिक विज्ञानं का समय है और हर क्षेत्र में नई नई खोज होने लग रही है। ऐसे में देश के किसान भी कहां पीछे रहने वाले हैं। साथ में सरकार भी नई नई योजनाओं के माध्यम से किसानो को मदद पहुंचती रहती है। अब ऐसे ही एक स्कीम मध्यप्रदेश की सरकार के द्वारा चलाई जा रही है जिसमे किसानो को खेती की मशीन खरीदने पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी सरकार द्वारा दी जा रही है।

मध्यप्रदेश की सरकार द्वारा चलाई जा रही इस स्कीम कानाम है ई-कृषि यंत्र अनुदान योजना। इसके तहत प्रदेश भर के सभी किसानो को कृषि कार्य के लिए यंत्र खरीदने पर सरकार के द्वारा 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है। लेकिन सरकार के जारी नोटिफिकेशन के अनुसार किसानो का नाम लॉटरी सिस्टम के जरिये चुना जा रहा है।

कैसे करना होगा आवेदन यहाँ देखें

किसानो को सरकार की इस ई-कृषि यंत्र अनुदान योजना के लिए आवेदन करना होगा उसके बाद ही इस योजना का लाभ मिल पायेगा। सबसे पहले किसानो को आवेदन करना होगा और उन आवेदन के माध्यम से सरकार किसानो कचयन करेगी। उसके बाद उन किसानो के नामों की लॉटरी निकली जाएगी और जिन किसानो का नाम सामने आएगा उन सभी किसानो को कृषि यंत्र खरीदने पर 30 से लेकर 50 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। आवेदन करने के लीये किसानो को सरकार की किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और अपना आवेदन भरना होगा।

किसानो को इन मशीनों पर दिया जाएगा अनुदान

किसानों को सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, सुपर सीडर, जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, श्रव मास्टर, पैडी स्ट्रॉ चॉपर, श्रेडर, मल्चर, रोटरी स्लेशर, हाइड्रोलिक प्लाऊ, बेलिंग मशीन, क्रॉप रीपर, स्ट्रॉ रेक और रीपर कम बाइंडर जैसी मशीनों पर सरकार की तरफ से अनुदान दिया जाएगा.

50 प्रतिशत तक की सब्सिडी

ई-कृषि यंत्र अनुदान स्कीम के तहत किसानों को खेती की मशीनों पर 30 से 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है. अगर रुपये की बात करें तो मध्य प्रदेश सरकार प्रत्येक कृषि यंत्रों पर तकरीबन 40 से 60 हजार तक का अनुदान दे रही है. बता दें कृषि यंत्र के आने से खेती में किसानों के समय की बचत हो रही है. इसके किसानों की लागत में भी कमी आई, जिसके चलते किसानों के मुनाफे में भी इजाफा हुआ है.

Leave a Comment