गेहू में जबरदस्त तेजी, मंडी में भारी आवक, 27 लाख कट्टे गेहू पंहुचा

Written by Chirag Yadav

Published on:

कृषि उपज मंडी बांरा में गेहू रखने तक की जगह नही बची है गेहू मंडी में 27 लाख कट्टो की आवक डेढ़ माह में हुई है खुले मार्किट में MSP से अधिक रेट मिलने की वजह से किसानो को अधिक मुनाफा हो रहा है

पिछले साल के मुकाबले इस साल भावो में तेजी से उछाल

पिछले साल की तुलना में इस साल गेहू के रेट में अच्छा उछाल रहा है गेहू व्यापारी विमल बंसल ने वताया की दिसम्बर से जनवरी के महीने में गेहू के भाव में तेजी रहती है लेकिन इस बार मार्च के महीने में ही गेहू के भाव तेजी देखने के लिए मिल रही है मार्च के पहले ही सप्ताह में गेहू के भाव में 3050 का आंकड़ा पर कर लिया था लेकिन अभी गेहू में कुछ मंडी आई है लेकिन अभी भी मंडी में गेहू का भाव 2200 से 24 सौ रु प्रति किवंटल का भाव चल रहा है हालाँकि गेहू के भाव में दो सौ से तीन सौ के तेजी मंडी हमेशा से होती रही है

जिले इतने रखबे पर हुई गेहू की बुआई

बांरा जिले में इस साल गेहू की बुआई 122000 हेक्टेयर भूमि पर हुई थी और इस बार जिले में गेहू का उत्पादन करीब छह लाख मीट्रिक टन तक हुआ है कृषि विभाग के सयुंक्त निदेशक आतिश कुमार के अनुसार मंडियों में अभी मात्र 28 से 30 प्रतिशत तक की आवक हुई है और अभी तो गेहू आना बाकि है। मई जून के महीने तक मंडियों में गेहू की फसल की आवक होती रहेगी। बाद में मंडियों में गेहू की आवक होनी कम हो जाती है मार्च के महीने से मंडियों में गेहू की आवक शुरू हुई है और मार्च के महीने में करीब 11 लाख कट्टो की आवक हुई थी वही पर अप्रैल के महीने में 16 लाख कट्टो से अधिक की आवक रही है

अन्य राज्यों से भी आता है गेहू

कृषि उपज मंडी में राज्य के आलावा अन्य राज्यों से भी गेहू की उपज आती है बांरा कृषि मंडी के समीप मध्यप्रदेश राज्य के कुछ जिले लगते है जिनमे इस साल गेहू का अच्छा उत्पादन हुआ है मध्यप्रदेश के श्योपुर , मकड़ावदा , बड़ोदा सहित अन्य गावो से गेहू की उपज बांरा मंडी में आ रही है इसका बड़ा कारण ये भी है की मंडी में गेहू की उपज के अच्छे भाव मिल रहे है और नकद भुगतान प्रणाली के चलते लोग यहाँ अपनी फसल लेकर आ रहे है

Leave a Comment